Vivah Shubh Muhurat 2024 : वसंत पंचमी और अक्षय तृतीया पर नहीं हैं शुभ मुहूर्त शुक्र अस्त होने से मई-जून में नहीं बजेगी शहनाई.

JOIN US
Vivah Shubh Muhurat 2024  : सूर्य मकर राशि में प्रवेश कर चुका है। इसके साथ ही एक बार फिर से शादियों का सीजन शुरू हो गया है. यह जनवरी से अप्रैल तक चलेगा. इसके बाद जुलाई में विवाह का शुभ मुहूर्त निकलेगा.

शुक्र अस्त होने से मई और जून में शादियां नहीं हो सकेंगी। जुलाई से नवंबर के पहले सप्ताह तक देवशयन के कारण कोई शुभ मुहूर्त नहीं रहेंगे। फिर 12 नवंबर से 14 दिसंबर तक शादियों का सीजन रहेगा। बनारस, उज्जैन, पुरी, राजस्थान और गुजरात के पंडितों के अनुसार, विवाह के लिए कुल 55 शुभ मुहूर्त होंगे.

जनवरी के पहले 15 दिनों के दौरान, सूर्य धनु राशि में था। धनु राशि होने के कारण विवाह का कोई शुभ मुहूर्त नहीं था, लेकिन 16 तारीख से विवाह प्रारंभ हो रहा है। 31 जनवरी तक विवाह के लिए 9 शुभ मुहूर्त रहेंगे.

फिर शादी का शुभ मुहूर्त 12 मार्च तक रहेगा। इसके बाद 14 मार्च को सूर्य मीन राशि में प्रवेश करेगा। इससे खर माह की शुरुआत होगी, जो अप्रैल तक चलेगा ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस माह में शुभ कार्य वर्जित होते हैं इसलिए इस दिन कोई शुभ मुहूर्त नहीं होता है। इसके बाद अगला शुभ मुहूर्त 18 अप्रैल होगा.

शादियों के लिए 55 शुभ मुहूर्त
जनवरी
16,17, 20, 21, 22, 27,28,30 और 31
फ़रवरी
4,6,7,8,12,13,17,24,25,26, और 29
मार्च
1,2,3,4,5,6,7,10,11, और 12
अप्रैल
18,19, और 20
जुलाई
9,11,12,13,14, और 15
नवंबर
12,13,16,17,18,22,23,25,26,28, और 29
दिसंबर
4,5,9,10, और 14
इस साल अक्षय तृतीया और वसंत पंचमी पर शादियां नहीं हो सकेंगी
वसंत पंचमी 14 फरवरी यह विवाह के लिए शुभ मुहूर्त माना जाता है, लेकिन इस बार वसंत पंचमी पर अश्विनी नक्षत्र रहेगा। ज्योतिषियों के अनुसार इस नक्षत्र में विवाह संभव नहीं है। इस कारण वसंत पंचमी पर विवाह का शुभ मुहूर्त नहीं रहेगा.

10 मई को होगी अक्षय तृतीया यह दिन शादियों के लिए भी अत्यंत अबूझ मुहूर्त है। इस बार अक्षय तृतीया पर शुक्र अस्त होने के कारण विवाह का कोई शुभ मुहूर्त नहीं रहेगा। इस प्रकार दो अत्यंत शुभ दिनों में भी विवाह नहीं होगा। मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी इन दो दिनों में बड़ी संख्या में सामूहिक विवाह होते हैं.

मई-जून 2024 में शुक्र अस्त होगा इसलिए कोई शुभ मुहूर्त नहीं है
29 अप्रैल को शुक्र ग्रह सूर्य के करीब आ जाएगा। जो भी ग्रह सूर्य के निकट आता है उसे अस्त माना जाता है। शुक्र 61 दिनों के लिए अस्त था। ज्योतिष शास्त्र कहता है कि शुक्र अस्त होने के कारण विवाह का कोई शुभ मुहूर्त नहीं है। 28 जून को शुक्र उदय होने के बाद विवाह शुरू होगा और शुभ मुहूर्त जुलाई में देवशयन तक रहेगा.

Leave a comment