KK Pathak : क्यों के.के. पाठक विवादों से घिरे अचानक चले गये छुट्टी पर? नियुक्ति पत्र कार्यक्रम से भी दूर रहेंगे शिक्षक.

JOIN US
KK Pathak  : के.के. पाठक बिहार शिक्षा विभाग के उप मुख्य सचिव छुट्टी पर चले गये हैं. के.के. पाठक सात दिन की छुट्टी पर हैं. उन्हें 14 जनवरी तक छुट्टी की मंजूरी दी गई, जिसके बाद उन्हें कई दिनों के लिए विभागीय कार्य से निलंबित कर दिया जाएगा. अपने बयान में उन्होंने छुट्टी पर जाने की वजह भी बताई. के.के पाठक की अनुपस्थिति में पाठक शिक्षा विभाग के सचिव बैदीनाथ यादव अब अपर मुख्य सचिव के प्रभार में हैं. कार्यभार संभालते ही बैद्यनाथ यादव एक्शन में आ गये और अधिकारियों के साथ बैठक की. बता दें कि बीपीएससी द्वारा द्वितीय चरण शिक्षक नियुक्ति पत्र वितरण समारोह 13 जनवरी को आयोजित किया जायेगा. जबकि के.के. पाठक 14 जनवरी तक छुट्टी पर रहेंगे.
के.के. पाठक 14 जनवरी तक छुट्टी पर रहेंगे
शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव के.के. पाठक 14 जनवरी तक छुट्टी पर रहेंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने स्वास्थ्य कारणों से छुट्टी ली है। तब तक विभाग के सचिव बैद्यनाथ यादव एसीएस का नेतृत्व करेंगे. हम आपको बताना चाहेंगे कि 13 जनवरी को पटना के गांधी मैदान में नवनियुक्त बीपीएससी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटा जाना है. के.के. पाठक 14 जनवरी तक छुट्टी पर हैं. जिसके बाद अब यह लगभग तय हो गया है कि केके पाठक इस कार्यक्रम में भाग नहीं लेंगे. याद दिला दें कि के.के. पाठक उन शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटने की प्रक्रिया में थे, जिन्हें बीपीएससी परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद पहली बार नियुक्त किया गया था। उनकी तारीफ सीएम नीतीश कुमार ने भी की थी.
केके पाठक विरोधाभासों से घिरे हैं
गौरतलब है कि के.के. पाठक इन दिनों विवादों में भी घिरे हुए हैं। उनका विवाद आईएमए के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार से चल रहा है। डॉ. अजय कुमार ने केके के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. पाठक, पटना के राजीवनगर थाने में। उन पर दुर्व्यवहार, कॉल करने और अपशब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया था। उन्होंने कहा कि अगर थाने में एफआईआर दर्ज नहीं हुई तो वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे और मामला दर्ज कराएंगे. इस पूरे मामले को लेकर बिहार में आईएमए के अंदर भी असंतोष है.
के.के. पाठक को भी नोटिस भेजा गया था
आईएमए (बिहार राज्य शाखा) के अधिकारियों ने शनिवार को एक आपात बैठक की और उचित कार्रवाई के लिए पीएमओ के शिकायत विभाग को एक पत्र भी भेजा। इससे पहले के.के. पाठक ने अपने वकील नरेश दीक्षित के माध्यम से डॉ. अजय कुमार को उनकी आपत्तिजनक टिप्पणियों के संबंध में कानूनी नोटिस जारी किया। नोटिस में के.के. पाठक ने डॉक्टर से माफी मांगने को कहा. यह भी खबर आई थी कि अगर उन्होंने माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। ये बहस अब आगे बढ़ रही है.
शिक्षकों के नियुक्ति पत्र देने के समारोह की तैयारी चल रही है
बता दें कि द्वितीय चरण के शिक्षक नियुक्ति पत्र वितरण समारोह का जिले के स्कूलों में बीपीएससी द्वारा सीधा प्रसारण किया जाएगा. शिक्षक 13 जनवरी को अपने स्कूलों में समारोह का लाइवस्ट्रीम देख सकेंगे। शिक्षा विभाग के आदेश में कहा गया है कि इसमें सिर्फ पटना जिले से 2500 चयनित शिक्षक शामिल होंगे. ये सभी शिक्षक औपबंधिक नियुक्ति पत्र दिखाने के बाद ही वहां प्रवेश करेंगे. दूसरे जिलों में नियुक्त शिक्षक अपने-अपने शिक्षण केंद्र में ही रहेंगे. शिक्षक वहां से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जुड़कर कार्यक्रम को लाइव देख सकते हैं। स्कूल के प्रधानाचार्य कार्यक्रम का सीधा प्रसारण आयोजित करेंगे। शिक्षकों को बस से कार्यक्रम स्थल तक पहुंचाया जाएगा। बस में केवल नवनियुक्त शिक्षक ही रहेंगे। उनके परिवार के सदस्य इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे. कार्यक्रम पूरा करने के बाद शिक्षक उसी बस से प्रशिक्षण केंद्र लौटेंगे। इस कार्यक्रम की तैयारियां जोरों पर हैं.

Leave a comment