Patna High Court : गलत दिशा में गाड़ी चलाने वालों की अब खैर नहीं.

JOIN US

राष्ट्रीय राजमार्गों पर गलत दिशा में वाहन चलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पटना हाईकोर्ट ने बिहार के डीजीपी आरएस भट्टी को निर्देश दिया है कि वे सभी पुलिस स्टेशनों को लगातार गश्त और दोषी वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई के संबंध में निर्देश जारी करें. शुक्रवार को मुख्य न्यायाधीश के विनोद चंद्रन और न्यायमूर्ति राजीव रॉय की पीठ एनएच से जुड़े मामलों की सुनवाई की.

हाई कोर्ट ने कहा कि एनएच में गलत दिशा में यातायात सही दिशा से आने वाले ड्राइवरों के लिए कई समस्याएं पैदा करता है। इस वजह से दुर्घटना होने की प्रबल संभावना रहती है. जान-माल की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है. कोर्ट ने डीजीपी को कार्रवाई का आदेश दिया. कोर्ट ने कहा कि सभी पुलिस विभागों को गलत दिशा में जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया जाना चाहिए।

दरअसल, कई राष्ट्रीय राजमार्गों को लेकर हाई कोर्ट में सुनवाई हुई है. इस बीच, महाधिवक्ता पी.के. शाही ने कोर्ट को बताया कि आरा-मोहनिया राष्ट्रीय राजमार्ग पर तीन रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण कराया जायेगा. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग जैसी सड़कों पर स्थानीय लोगों द्वारा अतिक्रमण किये जाने से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है.एनएच में बहुत से लोग गलत दिशा में गाड़ी चलाते हैं, इसलिए सही दिशा में गाड़ी चलाने वाले लोगों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है।

हाईकोर्ट ने रोहतास जिले के डीएम को अतिक्रमण हटाने के लिए कदम उठाने का निर्देश दिया. अदालत ने एनएचएआई को यह भी निर्देश दिया कि रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण कार्य कब पूरा होगा, इस पर हलफनामा दायर करें।

वहीं, महाधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि पटना बख्तियारपुर एनएच का पूरा निर्माण पूरा किये बिना ही रोड टैक्स लगाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि 64 किमी लंबे एनएच पर कोई सर्विस लेन नहीं है. इतना ही नहीं, उत्तरी एनएच में कहीं भी जल निकासी की व्यवस्था नहीं है। कोर्ट ने एनएचएआई को इस संबंध में हलफनामा दायर कर स्थिति स्पष्ट करने का भी निर्देश दिया.

Leave a comment