Cyber Fraud Case In Bihar : बिहार साइबर ठगी का मामला पुलिस के लिए नया सिरदर्द बन गया है इसमें पढ़े-लिखे लोगों को हजारों रुपये का चूना लग गया है.

JOIN US
Cyber Fraud Case In Bihar : बिहार पुलिस के लिए साइबर ठगी का मामला नया सिरदर्द बन गया है. लाख प्रचार-प्रसार के बावजूद बिहार खासकर पटना में साइबर ठगी के मामले कम नहीं हो रहे हैं. सबसे खास बात यह है कि साइबर ठगी के सबसे ज्यादा शिकार पढ़े-लिखे लोग होते हैं। आंकड़ों पर नजर डालें तो हर दिन पढ़े-लिखे लोग लालच या लापरवाही के कारण हजारों रुपये गंवा देते हैं। शुक्रवार को भी ऐसे ही कई मामले पटना साइबर सेल से सामने आए. किसी ने घोटाले का शिकार होकर अपना पैसा गंवा दिया है तो कोई लालच के कारण साइबर धोखाधड़ी का शिकार हो गया है.

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करके खोया पैसा

बदमाशों ने कदमकुआं निवासी अभिजीत कुमार को क्रिप्टोकरेंसी में निवेश से मुनाफा कमाने का झांसा दिया और उनसे 5.45 लाख रुपये उड़ा लिए। पहले तो उनसे दो हजार, पांच हजार निवेश करने को कहा गया और मुनाफा भी दिया गया। इसके बाद अभिजीत कुमार को 5.45 लाख रुपये निवेश कराने का झांसा दिया. लगातार पैसे निवेश करने के बावजूद जब शुरुआती रकम भी वापस नहीं आई तो उन्हें शक हुआ। इसके बाद उन्हें घोटाले की जानकारी मिली और उन्होंने कदमकुआं थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कराया.

काम का झांसा देकर पांच हजार रुपये ठग लिये

साइबर अपराधियों ने चिरैयाटांड़ इलाके में रहने वाले राकेश कुमार को नौकरी जैसे व्यापार और लिंक से लाखों कमाने का लालच दिया और उनसे 5 लाख रुपये ठग लिए. पहले उन्हें मुनाफ़ा दिया गया और फिर धीरे-धीरे उन्होंने पैसा लगाना शुरू कर दिया. इसलिए इन लोगों की सलाह पर राकेश कुमार ने पांच लाख रुपये निवेश कर दिये. बाद में जब उन्हें एहसास हुआ कि उनके साथ ठगी हुई है तो उन्होंने कंकड़बाग थाने में शिकायत दर्ज करायी.

एटीएम में कार्ड बदलकर खाते से 80 हजार रुपये निकाल लिए

बदमाशों ने एग्जीबिशन रोड निवासी सविता झा का फ्रेजर रोड स्टेट बैंक के एटीएम से कार्ड स्वैप कर लिया और उनके खाते से 80 हजार रुपये निकाल लिये. इस संबंध में सविता झा ने कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया है. सविता झा इस एटीएम से पैसे निकालने गई थीं और मदद के नाम पर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया.

कार्ड से धोखाधड़ी कर खाते से 65 हजार रुपये निकाल लिए

बदमाशों ने सालिमपुर निवासी रंजन कुमार का कार्ड आर्य कुमार रोड स्थित केनरा बैंक के एटीएम में डाला और फिर उनके खाते से 65 हजार रुपये निकाल लिये. रंजन कुमार मिनी स्टेटमेंट लेने के लिए एटीएम गए थे. इस दौरान उन्होंने सारी प्रक्रिया पूरी की और फिर एटीएम कार्ड निकालने की कोशिश की. लेकिन वह बाहर नहीं आया. इसी बीच एक युवक आया और गार्ड से बात करने के लिए उसे एक फोन नंबर दिया। इस कथित सुरक्षा गार्ड ने फोन पर कहा कि आप दिनकर गोलंबर स्थित एटीएम के सुरक्षा गार्ड को बुला लें. रंजन कुमार सिक्योरिटी गार्ड को बुलाने गए और कुछ ही देर में अपना कार्ड निकालकर खाते से 65 हजार रुपये निकाल लिए। रंजन कुमार ने कदमकुआं थाने में मामला दर्ज कराया.

छोटे शहरों में भी यह घटना बढ़ रही है

इसी तरह, भागलपुर के शाहपुर हरिदासपुर निवासी संजीव कुमार सिंह का एटीएम कंकड़बाग स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में फंस गया. इसके बाद उन्होंने एटीएम पर खड़े सिक्योरिटी गार्ड के नंबर पर कॉल की तो उनसे कहा गया कि वह एक घंटे में आकर अपना कार्ड ले जाएं. वह अपने घर गया और इसी दौरान उसके खाते से 7500 रुपये निकाल लिये गये. संजीव कुमार सिंह पटना के जगदेव पथ पर रहते हैं. उन्होंने कंकड़बाग थाने में बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कराया.

Leave a comment