Bihar Weather Report : मौसम विभाग ने बिहार में ठंड की विदाई की तारीख बारिश और शीतलहर के बारे में भी जानकारी दी है.

JOIN US
Bihar Weather Report : बिहार में ठंड का कहर जारी है. पिछली गर्मियों में भीषण गर्मी झेलने वाला बिहार अब इस साल सर्दियों में शीतलहर की मार झेल रहा है। दिन में पारा सतह पर लाने वाली कड़ाके की ठंड और कोहरे का दौर छह दिनों से जारी है। फिलहाल ठंड का कहर अभी खत्म होता नहीं दिख रहा है और इसके आगे भी जारी रहने का अनुमान है. कोहरे के कारण राज्य का शायद ही कोई इलाका ऐसा हो, जहां अब तक कोल्ड डे न पड़ा हो.
कोहरे के कारण दिन में ठंड की स्थिति बनी हुई है
कोल्ड डे/कोल्ड वेव जैसी स्थिति बनी रहने का कारण कोहरा न छंटना है। इसकी टिकाऊ परत सतह से एक से दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित होती है। धूल के कण भी कोहरे का हिस्सा होते हैं। इसके कारण सूर्य की रोशनी सतह तक नहीं पहुंच पाती है.
परिणामस्वरूप, पारा का स्तर सामान्य से काफी नीचे गिरने से राज्य के अधिकांश हिस्सों में दिन के समय ठंड की स्थिति पैदा हो रही है। आमतौर पर पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण दिसंबर से जनवरी तक शीतकालीन बारिश होती है। इससे आसमान साफ ​​हो गया। इस बार ऐसा नहीं है. 2018 के बाद राज्य में लगातार ठंडे दिन की स्थिति बनी हुई है.
कब तक रहेगी ठंड? बारिश की भी थी सूचना…
मौसम रिपोर्ट के मुताबिक 26 जनवरी के आसपास राज्य में एक मजबूत पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है. इसके कारण 26 या 27 जनवरी को बिहार में बारिश हो सकती है. इससे ठंड बढ़ेगी. इधर, आईएमडी के पूर्वानुमान के मुताबिक 22 जनवरी तक कड़ाके की ठंड जारी रहने की संभावना है. अगले तीन-चार दिनों तक उत्तर बिहार में कुछ स्थानों पर घना कोहरा और दक्षिण बिहार में मध्यम से घना कोहरा छाये रहने की संभावना है.
पटना,छपरा,भागलपुर समेत कई इलाकों में कड़ाके की ठंड
बिहार में बुधवार को मुजफ्फरपुर, बक्सर, औरंगाबाद, पटना, भागलपुर, पूर्णिया, छपरा, सबौर, भोजपुर, कैमूर, खगड़िया, जिरादाय, अगवानपुर, किशनगंज में कड़ाके की ठंड दर्ज की गई. यहां पारे का स्तर सामान्य से छह से 11 डिग्री नीचे दर्ज किया गया.
गया में लगातार चौथे दिन कोल्ड डे रहा
ऐ में लगातार चौथे दिन ठंडा दिन रहा। मौसम सेवा के अनुसार, गया अगले साल 21 जनवरी तक कड़ाके की ठंड की चपेट में रहेगा। बुजुर्ग हरिहर पासवान, महेश ठाकुर व अन्य ने बताया कि कई वर्षों के बाद इतनी देर तक इतनी ठंड पड़ी है, जब लगातार कई दिनों तक धूप नहीं निकल रही है, इतना घना कोहरा छा रहा है कि पांच गज दूर का कुछ भी नजर नहीं आ रहा है. जी हां, लगातार चल रही शीत लहर के कारण आज ठंडा दिन है। पिछले सात दिनों से ठंड का अलर्ट जारी किया गया है.
गोपालगंज का मौसम
कश्मीर की हवाओं के कारण बढ़ी ठंड के कारण बुधवार की सुबह गोपालगंज में कोहरा तो नहीं रहा, लेकिन लोगों के हाथ-पैर सुन्न रहे. कड़ाके की ठंड में लोग दिन-रात पैदल चलते हैं। गर्म कपड़े पहनने से भी ठंड से राहत नहीं मिल रही है। ठंड के कारण लोग अपने घरों में ही दुबके रहे। जरूरी काम से जाने वाले लोग गर्म कपड़ों में लिपटे रहे। यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. आधी जनवरी बीत जाने के बाद भी ठंड कम नहीं हुई। ठंड बढ़ती जा रही है: बुधवार 10 साल में इस सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा. अब दिन और रातें काफी ठंडी हैं, इसलिए राहत नहीं मिल रही है। सूरज की रोशनी भी नजर नहीं आ रही थी. बुधवार 10 साल का सबसे ठंडा दिन साबित हुआ। हवा का तापमान 14 डिग्री तक गिर गया। इस सीजन में यह पहली बार है कि इतना कम तापमान दर्ज किया गया है.
 मौसम वैज्ञानिक डॉ. एस.एन. पांडे ने कहा कि जेट स्ट्रीम (पृथ्वी की ऊपरी सतह पर चलने वाली तेज हवाएं) के कारण ठंड का दौर फिलहाल 20 जनवरी तक रहने की उम्मीद है।

बिहार में कोहरे का कहर जारी है. हालात यहां तक ​​पहुंच गए हैं कि तेजस राजधानी एक्सप्रेस जैसी सबसे प्रतिष्ठित रेलवे ट्रेन भी कई घंटों की देरी से चल रही है. खास बात यह है कि यह ट्रेन श्रमजीवी और मगध जैसी ट्रेनों की तुलना में देर से आती है। बुधवार को राजधानी 11 घंटे की देरी से पटना जंक्शन पहुंची, जबकि इसकी तुलना में श्रमजीवी एक्सप्रेस महज 22 मिनट की देरी से पहुंची. इस आदेश के अनुसार संपूर्णक्रांति को 10 घंटे, विक्रमशिला को 12 घंटे, ब्रह्मपुत्र पोस्ट को सात घंटे, मगध एक्सप्रेस को सात घंटे, इस्लामपुर हटिया को पांच घंटे, हावड़ा पटना जनशताब्दी एक्सप्रेस को दो घंटे तक रोके रखा गया. वहीं, महानंदा एक्सप्रेस को रद्द करना पड़ा. ट्रेनों की लेटलतीफी के कारण अधिकांश यात्रियों को जंक्शन प्लेटफार्म पर रात गुजारनी पड़ी। यह स्थिति पिछले 14 दिनों से देखने को मिल रही है.

Leave a comment