Weather News : पहाड़ों पर बर्फबारी नहीं मैदानों में बर्फीली हवा ने बढ़ाई ठंड जनवरी के बाद राहत मिल सकती है.

JOIN US
Weather News : जनवरी में उत्तर भारत में सर्दी का सितम कम नहीं हो रहा है. मौसम सामान्य है क्योंकि पहाड़ पर अभी तक बर्फ नहीं गिरी है. वहीं, मैदानी इलाकों में बर्फीली हवा के कारण दिन में लोग कांपने को मजबूर हैं. दिल्ली में दिसंबर भले ही छह साल में सबसे गर्म रहा हो, लेकिन जनवरी की सर्दियां हर दिन नए रंग दिखाती हैं।

खिली धूप वाली ठंड से कुछ राहत
पिछले कुछ दिनों से तेज धूप निकलने से ठंड से कुछ राहत मिली थी, लेकिन शुक्रवार को एक बार फिर सूरज नजर नहीं आया। इस बीच शीतलहर के कारण दिन का तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे चला गया। मौसम ब्यूरो ने कहा कि शनिवार और रविवार को भी ऐसा ही मौसम जारी रहेगा। शनिवार को ऑरेंज अलर्ट और रविवार को येलो अलर्ट जारी किया गया है. इस बीच उत्तर प्रदेश में तीन से चार दिनों तक इसी तरह का मौसम बना रहेगा.

बादल से भरा आसमान
शुक्रवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 14.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 7.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री कम है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ठंडे दिन की स्थिति के पीछे मुख्य कारण आसमान में बादल छाए रहना है। सूरज बादलों में छिपा रहता है और सूरज की रोशनी धरती तक नहीं पहुंच पाती।

ठंडे दिन और शीत लहरें
मौसम कार्यालय के अनुसार, ठंडा दिन तब होता है जब दिन का तापमान सामान्य से 4.5 से 6.4 डिग्री कम दर्ज किया जाता है। जबकि जब यह 6.5 डिग्री या इससे नीचे चला जाता है तो इसे गंभीर रूप से ठंडा दिन कहा जाता है। इसी तरह, जब न्यूनतम तापमान सामान्य से 4.5 से 6.4 डिग्री कम दर्ज किया जाता है, तो यह शीत लहर की स्थिति होती है। वहीं जब यह 6.5 डिग्री या इससे नीचे चला जाता है तो इसे भीषण शीत लहर कहा जाता है.

हरियाणा में शीतलहर, पंजाब में रिकॉर्ड तोड़ ठंड
हरियाणा कोहरे और शीतलहर की चपेट में है. गुरुवार रात से शुक्रवार सुबह तक कोहरा छाया रहा। राज्य के सिरसा में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. पंजाब में भी शुक्रवार को पूरे दिन घना कोहरा छाया रहा। कई जिलों में दृश्यता शून्य रही. लुधियाना और नवांशहर (एसबीएस नगर) दिन के दौरान सबसे ठंडे रहे। नवांशहर में अधिकतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस और लुधियाना में अधिकतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 53 साल बाद 19 जनवरी को लुधियाना में दिन का तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया

उत्तर प्रदेश में चार-पांच दिनों तक गलन भरी ठंड जारी रहेगी
उत्तर प्रदेश में सर्दी के सितम से अगले चार-पांच साल तक राहत नहीं मिलेगी। राजधानी समेत प्रदेश के चार दर्जन से ज्यादा जिलों में अगले चार-पांच दिनों तक कड़ाके की . शुक्रवार को प्रदेश में सबसे ठंडा तापमान कानपुर शहर में दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस रहा. कानपुर में अधिकतम तापमान 11.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जनवरी से शीतलहर का असर लगभग खत्म हो जाएगा तभी ठंड से राहत मिलने की उम्मीद है.

पहाड़ों पर बर्फबारी नहीं हो रही है लेकिन सर्दी जारी है
शुष्क मौसम के बीच पहाड़ी इलाकों में धूप खिलने से तापमान सामान्य है, लेकिन मैदानी इलाकों में कड़ाके की सर्दी से जनजीवन प्रभावित हुआ है। उत्तराखंड में पिछले दो दिनों से ठंड बढ़ गई है. मैदान घने कोहरे की मार झेल रहे हैं. देहरादून में अधिकतम तापमान करीब आठ डिग्री सेल्सियस गिर गया। मौसम विभाग के अनुसार, अगले कुछ दिनों तक राज्य में मौसम शुष्क रहने की उम्मीद है। घने कोहरे का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है और देहरादून, नैनीताल और पौडी के मैदानी इलाकों में येलो अलर्ट भी जारी किया गया है.

गंभीर ठंड से ब्रेक लग गया
वहीं, बदरीनाथ मास्टर प्लान के चल रहे तीसरे चरण पर भी शीतकालीन ब्रेक लग गया है। बदरीनाथ से मजदूर और कर्मचारी-अधिकारी भी लौट आए हैं। कश्मीर में अगले हफ्ते हल्की बर्फबारी और बारिश की संभावना है. इससे लंबे समय से चले आ रहे सूखे के खत्म होने की उम्मीद है.

वहीं, शुष्क मौसम के बीच घाटी में कड़ाके की सर्दी कम नहीं हुई है। हर जगह रात का तापमान शून्य से नीचे था। कश्मीर में पहलगाम शून्य से 6.3 डिग्री सेल्सियस नीचे सबसे ठंडा स्थान रहा। जबकि जम्मू में अधिकतम तापमान 13.7 डिग्री सेल्सियस रहा. मौसम विभाग के मुताबिक जनवरी को जम्मू-कश्मीर के ऊंचे पहाड़ी इलाकों में हल्की बर्फबारी की संभावना है

Leave a comment